मुगलों को धूल चटाने वाले वीर शिवाजी महाराज की मृत्यु साजिश के तहत की गई थी?

शिवाजी महाराज को भला कौन नहीं जानता? जिनकी विरता की कहानी इतिहास के पन्नों में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज है.शिवाजी महाराज की जन्म तारिख को लेकर आज भी संशय बना हुआ है. लेकिन, उनका जन्म 19 फरवरी 1630 को माना जाता है. उनका जन्म मराराष्ट्र में पुणे के शिवनेरी किला में हुआ था. जिनका वास्तविक नाम शिवाजी भोसले था. पिता का नाम शाहजी भोसले व माता का नाम जीजाबाई भोसले था.उन्होंने युद्ध और राजनीति के गुर अपने दादा मालोजी भोसले से सिखा और अपनी माता से धार्मिक ग्रंथों की शिक्षा ली.

उस वक्त उनके पिताजी बीजापुर सुल्तान के सेनापति थे.वर्ष 1946 में उन्होंने युद्ध करना प्रारंभ किया तब उनकी आयु महज़ 17 वर्ष की थी. उन्होंने बेहद कम समय में तोर्ण,चाकन,कोंडाला,थाने,कल्याण और भिवंडी जैसे किलों को मुल्ला खान से छिनकर अपने मराठा राज्य में शामिल कर लिया. जिससे आदिल शाह के सम्राज्य समेत अन्य पड़ोसी राज्यों में हड़कंप मच गया.उसके बाद शिवाजी महाराज ने कई लड़ाईयां लड़ी और उसमें फतेह भी हासिल की. बाद में इनक मौत 1680ई. में बुखार और पेचिस के वजह से हो गय था. हालांकि कुछ जानकार उनकी मौत को अपने ही मंत्रियों की साजिश का प्रहार बताते है.

x

Check Also

पुलवामा हमला: सुरक्षा में बड़ी चूक

🔊 Listen to this 14 फरवरी २०१९ इस तारीख को शायद ही भारत का इतिहास   कभी भूल पाए। जहा एक ...

error: Dont Copy !!