छठ के दूसरे दिन कैसे बनाएं रसिया

बिहार में छठ का पर्व बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। यह महापर्व चार दिनों तक चलता है इस महापर्व पर हर एक दिन प्रसाद में कुछ खास बनाया जाता है. छठ के दूसरे दिन खरना बनाया जाता है. खरना का प्रसाद बनाने के लिए चावल, दूध और गुड़ का उपयोग किया जाता है। चावल और दूध चंद्रमा का प्रतीक है तो गुड़ सूर्य का प्रतीक है. तीनों के मिश्रण से बनी खीर को रसिया कहते हैं। इसको ग्रहण करने से स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। मानसिक रोग से भी छुटकारा मिलता है। इसके साथ हीं खरना का प्रसाद खाने वाले को चर्मरोग नहीं होता है। इस प्रसाद को छठ के दूसरे दिन बनाकर सूर्य देवता को चढ़ाया जाता है। इसे रोटी या पूरी के साथ सर्व किया जाता है।

आइए जानते हैं इसे बनाने के सही तरीके के बारे में——————— 

सामाग्री———————-

*चावल – ½ (80 ग्राम)

*गुड़ – 3/4 कप बारीक तोड़ा हुआ (150 ग्राम)

*फुल क्रीम मिल्क – 1 लीटर

*बादाम – 8-10

*काजू – 8-10

*किशमिश – 2 टेबल स्पून

*इलायची – 5-6

विधि ——————

– रसिया यानी गुड़ की खीर बनाने के लिए सबसे पहले दूध को एक बड़े बर्तन में उबालने के लिए रख दीजिए।

– इसके साथ ही आधा कप चावल साफ करके धोकर 2 घंटे के लिए पानी में भिगो कर रख दीजिए।

– दूध में उबाल आने पर चावलों को दूध में डाल कर मिला दीजिए। दूध को चम्मच से चलायें और खीर में उबाल आने के बाद गैस को धीमा कर दें। खीर को हर 1-2 मिनट में चलाते रहें ताकि वो बर्तन के तले पर न लगने पाएं।

– दूसरे बरतन में ½ कप पानी और गुड़ डाल कर गैस पर रख लें। जब गुड़ पानी में पूरी तरह से घुल जाए तो गैस बंद कर दें।

– इसके साथ ही सूखे मेवों को बारीक टुकड़ों में काट कर तैयार कर लीजिए।

– जब चावल मुलायम हो जाएं तब खीर में काजू, किशमिश और बादाम डाल दें। चावल जब दूध में अच्छे से मिल जाए तो उसमें इलायची पाउडर डाल दें।

– रसिया के ठंडा हो जाने पर, गुड़ का घोल छलनी से छान कर रसिया में मिला दें। रसिया बनकर तैयार है।

 

x

Check Also

दीवाली पर बनाएं मीठे मुरमुरे और आनंद से खाएं

🔊 Listen to this दीवाली पर बनाये हर पारंपरिक रुप से किसी भी त्यौहार एवं पूजा इत्यादि के समय बनाई ...

error: Dont Copy !!