आर्मी ऑफिसर के मात्र एक थप्पड़ से ही मसूद अज़हर ने उगले कई राज़,आतंकवाद में भर्ती के भी तरीके बताये.

पुलवामा हमले का मस्टरमाइंड और जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया  मसूद अज़हर अब पाकिस्तान में छिपा बैठा है.जहां से वह अपनी नापाक मंसूबो को अंजाम दे रहा है.पुलवामा में हुए सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हमले के बाद मसूद लगातार अपना ठिकाना बदल रहा है.लेकिन एक समय ऐसा भी था जब मसूद अज़हर हिन्दुस्तानी सेना के गिरफ्त में था.1994 में पहली बार जब मसूद श्रीनगर से गिऱफ्तार हुआ उस वक्त सेना को उससे पुछताछ करने में कोई ख़ास दिक्कत नहीं आई थी.

उस वक्त सेना में रहे अविनाश मोहनाने जिन्हें मसूद अज़हर से पुछताछ की जिम्मदेदारी सौंपी  गई थी,उन्होंने मसूद के बारे में खुलासा करते हुए कहा कि  मसूद से पुछताछ में कोई ज्यादा दिक्कत नहीं आई थी.वह एक थप्पड़ में ही हिल गया था और आतंकवाद और पाकिस्तान के बारे में कई अहम जानकारियां उगलने लगा  था.उसने आतंकवादी संगठन में भर्ती की प्रक्रिया भी बताई थी.

x

Check Also

मुठभेड़ मे मेजर समेत चार जवान शहीद, दो आतंकवादी ढेर

🔊 Listen to this जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार को हुई मुठभेड़ में एक मेजर समेत सेना के चार ...

error: Dont Copy !!