दिल्ली: आइये जानते हैं ‘भारत के दिल’ के बारे में कुछ स्पेशल

भारत की राजधानी और भारत का दिल कहे जाने वाले शहर दिल्ली की नज़ाकत को कौन नहीं जानता है। दिल्ली खासकर अपने ऐतिहासिक स्मारकों और ऐतिहासिक घटनाओं लिए जानी जाती है। दिल्ली की स्थापना मुगल सम्राट शाहजहाँ ने वर्ष 1649 में की थी और तब इसका नाम शाहजहानाबाद रखा था।
चुनाव हो और लोगों की नज़र दिल्ली पर न हो ये तो नामुमकिन है। वैसे दिल्ली पर बहुतों ने शासन किया लोग अब भी दिल्ली को पाना चाहते है। आजकल भी लोग कहावतों में कहते हैं “दिल्ली अभी दूर है”, “दिल्ली है दिलवालों की”…..

आइये जानते है दिल्ली के बारे में कुछ अमेजिंग फैक्ट्स:

अंग्रेजों ने सन वर्ष 1911 की शुरुआत में तब भारत की राजधानी कलकत्ता को दिल्ली स्थानांतरित करने की घोषणा की और इसे 1912 में दिल्ली को भारत की राजधानी बना दिया गया।

दिल्ली भारत का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। भारत के उत्तरी भाग में दिल्ली सबसे बड़ा व्यावसायिक केंद्र है। दिल्ली में देश के सबसे बड़े और सबसे तेजी से बढ़ते खुदरा उद्योग हैं।

दिल्ली का इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट शहर के घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय नागरिक हवाई यातायात के लिए शहर का मुख्य प्रवेश द्वार है। यह दक्षिण एशिया के सबसे व्यस्ततम एयरपोर्ट में से एक है।

भारतीय रेलवे में दिल्ली सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन है।

दिल्ली की मेट्रो देश की पहली आधुनिक परिवहन प्रणाली है। दिल्ली का मेट्रो स्टेशन लंबाई के मामले में दुनिया में 13 वां सबसे बड़ा मेट्रो संचालक है जो 193 किलोमीटर से अधिक है।

दिल्ली में भारत की सबसे बड़ी सार्वजनिक परिवहन प्रणाली है।दिल्ली परिवहन की सभी बसें सीएनजी से चलती है। दिल्ली शहर में भारत में रजिस्टरड कारों की संख्या सबसे ज्यादा है।

वैसे दुनिया में बहुत ऊंची मीनारे हैं लेकिन दुनिया की सबसे ऊंची ईंटों की मीनार कुतुब मीनार दिल्ली में है।

मुगल सम्राट शाहजहाँ द्वारा 1656 बनवाई गयी दिल्ली स्थिति जामा मस्जिद भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है।

दिल्ली का सबसे पुराना मसाला बाजार खारी बावली एशिया के सबसे बड़े थोक मसाला बाजारों में से एक है।

पारदर्शी प्रशासन और प्रशासनिक कामों के लिए दिल्ली को भारत के 21 शहरों में 5 वाँ स्थान दिया गया।

दिल्ली का फिरोज शाह कोटला कोलकाता में ईडन गार्डन के बाद दूसरा सबसे पुराना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम है।

दिल्ली में एक अंतर्राष्ट्रीय शौचालय संग्रहालय है जो सुलभ इंटरनेशनल द्वारा स्वच्छता और शौचालय के इतिहास के लिए चलाया जाता है।

दिल्ली वैसे अपने मौसम के लिए भी खूब जाना जाता है। ठंडियों में यहाँ ठण्ड जोरदार पड़ती है तो गर्मियों में यहाँ जीना मुहाल हो जाता है। दिल्ली में वैसे इंडिया गेट, कुतुब मीनार, दिली हाट, लाल किला आदि ऐसी जगहें है जहाँ जाकर आप भारत के इतिहास को नज़दीक से जान पाएंगे।

x

Check Also

शाहरुख खान ने बीजिंग इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का समापन ‘जीरो’ फिल्म के प्रीमियर के साथ किया

🔊 Listen to this शाहरुख खान ने 20 अप्रैल शनिवार शाम को चीन में बीजिंग इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का समापन ...

error: Dont Copy !!