देश की छवि खराब हो रही हैं : कांग्रेस

श्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि राफेल जेट परचेज में बहुत बड़ा घपला हुआ है। उसमें सारे नियम ताक पर रखकर एकतरफा फैसला प्रधानमंत्री जी ने किया है। इससे एकतरफ देश की सुरक्षा से समझौता हुआ है,उसके साथ-साथ जो खरीद की कीमत है, जो पहले तय हुई थी 526 करोड़ एक जहाज की, वो बढ़कर 1670 करोड़ रुपए हो गई और क्योंकि प्रधानमंत्री के पास कोई भी मेंडेट नहीं था, 126 जहाज जो ग्लोबल टेण्डर में थे, उनको कम करके 36 जहाज करना पङा क्योंकि ये एक ग्लोबल टेण्डर था और इसमें 6 देशों की कंपनियों ने अपने बिड्स दिए थे, इसलिए इसका जो परिणाम है वो दूरगामी होगा। इससे देश की छवि भी खराब होती है और जनता का पैसा भी व्यर्थ में जाया किया गया है।

 

हम ये उम्मीद करते हैं कि जो ज्ञापन दिया गया है, उसके साथ सारे ऐसे दस्तावेज लगे हैं जो इस बात को पुख्ता करते हैं, साबित करते हैं कि इसमें बहुत बड़ी गलतियाँ हुई हैं,इसलिए जाँच की जरुरत है और हम उम्मीद करते हैं कि ये सच्चाई सामने आएगी।

 

 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल Comptroller and Auditor General (CAG) से मिला और राफेल घोटाले को लेकर सारे कागजात, साक्ष्य और तथ्य सीएजी के समक्ष प्रस्तुत किए। हमने माननीय सीएजी को ये बताया कि किस प्रकार से देश को 41,000 करोड़ का चूना, मोदी सरकार ने 526 करोड़ का जहाज 1,670 करोड़ रुपए में खरीद कर लगाया। किस प्रकार से भारत सरकार की कंपनी HAL से 30,000 करोड़ का ठेका छीन कर एक निजी कंपनी को मोदी जी ने दे डाला। किस प्रकार से सारा गड़बड़झाला और घोटाला हुआ, फ्रांस की सीनेट से लेकर सारे साक्ष्य और तथ्य उनके समक्ष रखे।

 

सीएजी ने इस बात का आश्वासन कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधिमंडल को दिया कि संविधान और कानून के अनुरुप वो राफेल मामले से जुड़े, राफेल सौदे से जुड़े, सभी मामलों के कागज मंगा कर सम्पूर्ण जांच कर रहे हैं और जैसे ही उनकी जांच पूरी हो जाएगी, वो रिपोर्ट संसद के पटल पर रखेंगे। चाहे वो जहाज की कीमत हो, चाहे वो डिफेन्स प्रोक्योरमेंट प्रोसीजर की अवहेलना हो, चाहे वो HAL को छोड़कर रिलायंस कंपनी को ठेका दिए जाने की बात हो, सीएजी ने कहा कि वो सरकार से इन सब मामलों की जांच के साक्ष्य और तथ्य मंगवा कर जांच कर रहे हैं, संवैधानिक और कानूनी प्रक्रिया पूरी करेंगे।

 

हमें विश्वास है कि सीएजी के समक्ष जब सरकार की सब फाईलें आ जाएंगी, तो दूध का दूध, पानी का पानी सामने आ जाएगा और राफेल सौदे में जो 41,000 करोड़ रुपए का गडबडझाला हुआ है, जिस प्रकार से 30,000 करोड़ रुपए का ठेका सरकारी कंपनी HAL से छीना गया है, उस सारे रहस्य की परतें खुल जाएंगी और मोदी सरकार के झूठ का पर्दाफाश हो जाएगा।

 

 

x

Check Also

बॉक्स ऑफिस: फिल्म ‘कलंक’ पहले दिन कमा सकती है इतने करोड़

🔊 Listen to this खबर है कि बुधवार को फिल्म ‘कलंक’ रिलीज हो गई है और बतादे चले कि सोशल ...

error: Dont Copy !!