जानिए क्या कारण है जो राहुल गांधी इस बार वायनाड से भी चुनाव लड़ रहे हैं?

केरल के 20 लोकसभा सीटों में एक वायनाड आजकल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के कारण काफी चर्चा में है। राहुल गाँधी अमेठी के अलावा वायनाड से इस बार लोकसभा चुनाव लड़ रहें हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या राहुल गाँधी का सिक्का अमेठी के बाद वायनाड में भी चलेगा की नहीं? हालांकि वायनाड की ये सीट कांग्रेस की सबसे सुरक्षित लोकसभा सीट मानी जाती है। इसीलिए कांग्रेस ने राहुल को यहाँ से इसलिए उतारा है कि अगर अमेठी में हार गए तो यहाँ से तो इज़्ज़त बच जाएगी। इस सीट पर 2009 और 2014 में कांग्रेस के M I शनवास ने जीत हासिल की है।

इस सीट पर राहुल के खिलाफ वाम लोकतांत्रिक मोर्चे ने अपने उम्मीदवार पी पी सुनीर को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) से उतारा है। जैसा कि हम सभी जानते है केरल एक मुस्लिम बहुल राज्य है और वायनाड में मुस्लिमों की संख्या अन्य लोकसभा सीटों के मुक़ाबले यहाँ ज्यादा है। वायनाड जिले में हिन्दू 48.5%, ईसाई 21.3% और मुस्लिम 28.7% है। ऐसा माना जाता है कि कांग्रेस मुस्लिमों की हितैषी रही है यही कारण है कि कांग्रेस ने मुस्लिमों के वोट शेयर को खींचने के लिए राहुल गाँधी को यहाँ से उतारा है।

देश में कांग्रेस की विरोधी पार्टी भाजपा ने अभी इस सीट पर अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। वैसे भी भाजपा की जड़ केरल में कमज़ोर रही है, और यहाँ से CPI और कांग्रेस के बीच पार पाना भाजपा के लिए आसान काम नहीं है। इस चुनाव में केरल में CPI और कांग्रेस के बीच मुक़ाबला है। ये तो चुनाव के बाद ही पता चलेगा कांग्रेस की ये चाल कामयाब होती है कि नहीं।

x

Check Also

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान BJP सांसद जी वी एल नरसिम्हा राव पर फेंका गया जूता

🔊 Listen to this भारतीय जनता पार्टी ने जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के विशाल समर्थन के लिए ‘मेरा बूथ, सबसे ...

error: Dont Copy !!