अमित शाह

अमित शाह: NRC के तहत सिखों, बौद्धों और हिन्दुओं को छोड़कर बाकी घुसपैठियों को देश से बाहर निकाल दिया जाएगा

लोकसभा चुनाव का पहला चरण समाप्त हो चुका है अब अगले चरण के सभी पार्टियाँ प्रचार जोरो शोरों से कर रहीं है। कोई भी पार्टी प्रचार में कसर नहीं छोड़ना चाहती है। वहीँ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है अगर भाजपा दुबारा सत्ता में आती है तो पूरे देश में NRC क़ानून लागू किया जाएगा। उनके इस बयान से देश की राजनीति गरमा सकती है। उन्होंने कहा कि देश से एक-एक घुसपैठिए को बाहर निकालेंगे, मगर हिंदू और बौद्ध शरणार्थियों को ढूंढ-ढूंढकर नागरिकता देंगे। इस बयान काे लेकर राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस ने कहा कि उनकी पुरानी नीति चुनाव को सांप्रदायिक रंग देना रहा है।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दार्जिलिंग के कलिम्पोंग में कहा कि हम एक-एक घुसपैठिये को निकाल बाहर करने के लिए देश भर में NRC लाना हमारी प्रतिबद्धता रहेगी। ममता बनर्जी की तरह हम घुसपैठियों को अपना वोट बैंक नहीं समझते। हमारे लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सर्वोच्च है। हम सुनिश्चित करेंगे कि हर एक हिंदू, बौद्ध और सिख शरणार्थी को इस देश की नागरिकता मिलने में परेशानी नहीं हो।

शाह ने कहा कि अवैध प्रवासी दीमक की तरह हैं, वे गरीबों को मिलने वाले अनाज खा रहे हैं, वे हमारी नौकरियां छीन रहे हैं। टीएमसी के ‘टी’ का मतलब तुष्टीकरण, एम का मतलब ‘माफिया’ और ‘सी’ का मतलब ‘चिटफंड’ है। पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार के दौरान विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) विधेयक और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) का मुद्दा उठाने राजनीति में गरमी ला दी है।

आपको बताते चले कि असम में NRC लागू होने के मुद्दे पर भाजपा को काफी विरोधों का सामना करना पड़ा है। अभी भी ये क़ानून आधार में लटका पड़ा है। वहीं अमित शाह का यह बयान मुसलमानों के खिलाफ भी हो जा सकता है। क्योकि उन्होंने कहा है कि सिखों, बौद्धों, हिन्दुओं को छोड़कर बाकी घुसपैठियों को देश से NRC के तहत निकाल दिया जाएगा। उनके इस बयान से साफ़ जाहिर होता है कि वह मुसलमानो को टारगेट कर रहें है। उनका यह बयान चुनाव के इस मौसम में आचार सहिंता का उल्लघन भी हो सकता है।

x

Check Also

तनुश्री दत्ता के बाद कंगना रनौत की बहन ने अजय देवगन को आलोक नाथ के साथ काम करने को लेकर सुनाई खरी खोटी

🔊 Listen to this तनुश्री दत्ता द्वारा आने वाली फिल्म ‘दे दे प्यार दे’ में बलात्कार के आरोपी आलोक नाथ ...

error: Dont Copy !!